हमराही

सुस्वागतम ! अपना बहुमूल्य समय निकाल कर अपनी राय अवश्य रखें पक्ष में या विपक्ष में ,धन्यवाद !!!!

Wednesday, August 28, 2013

जन्माष्टमी दोहे 1.

आई है जन्माष्टमी , धूम मची चहुँ ओर
जन्मदिवस अब है सखी, मनवा नाचे मोर ||

बाद विष्णु के आठवें ,कृष्ण हुए अवतार 
ब्रज धरती अवतार ले, दिया कंस को मार ||

जन्मोत्सव की आज तो, मची हुई है धूम 
गोकुलवासी हैं सभी, रहे ख़ुशी से झूम ||

ख़त्म आतताई किया,छाया ब्रज उल्लास 
चमत्कार कर नित नए,बढ़ा रहे विश्वास ||

राधा अदभुत प्रीत की ,देकर गई मिसाल
मीराबाई भाँवरी , कान्हा बिन बेहाल ||

बाँधा रक्षासूत्र जो ,कृष्ण बचाई लाज 
प्रीत कृष्ण से जोड़ लो,पूरण होंगे काज ||

अर्जुन के बन सारथी ,दिया उसे निर्देश 
दूर किये संशय सभी, दे गीता उपदेश ||
................

सभी को जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं 
...............